उत्तराखंड: दिल्ली का घर छोड़ पैतृक गांव मे शादी करने आ रहा था परिवार; कार खाई में गिरने से पिता-पुत्री की दर्दनाक मौत, 06 घायल

4349 views          

अल्मोड़ा: दिल्ली से उत्तराखंड में अपने पैतृक गांव लौट रहा एक परिवार दर्दनाक हादसे का शिकार हो गया। इस हादसे में पिता-पुत्री की मौत हो गई, जबकि 6 अन्य लोग घायल हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक, कपोलीछीना कस्बे से लगे धमेड़ा बाजन गांव निवासी कमल सिंह रावत (उम्र 55) दिल्ली में बस गए थे, लेकिन उन्होंने बड़े अरमानों के साथ अपनी लाडली की शादी गांव से ही कराने का फैसला लिया। एक हफ्ते बाद यानि 27 अप्रैल को उनकी बेटी किरन (उम्र 21) का विवाह होना था। सभी अपने परिवार की लाडली को ससुराल विदा करने लिए हंसी-खुशी तैयारियों में जुटे थे।  इसी वजह से कमल सिंह बीती देर रात कार यूपी 16 एएक्स 3524 से परिवारी सदस्यों को लेकर दिल्ली से अपने गांव के लिए निकले थे। लेकिन मंगलवार सुबह चौड़ीघट्टी के पास हरड़ा के तीखे मोड़ पर चालक वाहन पर नियंत्रण खो बैठा और कार असंतुलित होकर खाई में जा गिरी। हादसे में पिता पुत्री की मौके पर ही मौत हो गई।

इस भीषण हादसे के साथ ही एक पिता के अपनी लाडली के लिए देखे गए अरमान हमेशा के लिए अधूरे रह गए। वहीं अन्य परिजनों के जिन कंधों पर लाडली की डोली उठनी थी, उस पर उसकी अर्थी उठेगी। इस दर्दनाक हादसे के बाद से गांव में शोक की लहर है।

वहीं वाहन में सवार तीन लोग किसी तरह पहाड़ी चढ़ कर सड़क तक पहुंचे। सूचना मिलने पर क्षेत्र के युवा समाजसेवी भूपेंद्र सिंह मेहरा, चंदन सिंह मेहरा, कैलाश जमनाल, अजय रावत, भगत मेहरा, हिम्मत जायसवाल किसी तरह खाई में उतरे। दुर्घटनाग्रस्त वाहन में फंसे लोगों को बाहर निकाला। तीन अन्य बुरी तरह घायल थे। इनमें दो की हालत नाजुक बताई जा रही है।

हादसे में घायल:

  • चालक बागंबर सिंह पटवाल पुत्र पदम् सिंह पटवाल निवासी कपसोली मासी
  • मंजू देवी पत्नी कमल सिंह रावत निवासी धमेड़ा बाजन भिकियासैंण
  • हेमा देवी पत्नी भूपेंद्र सिंह निवासी सिनौड़ा भिकियासैंण 
  • नियति बिष्ट पुत्री भूपेंद्र सिंह सिनौड़ा गांव 
  • श्याम सुंदर सिंह पुत्र कमल सिंह निवासी धमेड़ा बाजन  
  • ललित सिंह पुत्र हरि सिंह निवासी कड़ाकोट बाजन

About Author

           

You may have missed