उत्तराखंड पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने जॉर्ज एवरेस्ट हाउस का किया लोकार्पण,पर्यटक जार्ज एवरेस्ट से हिमालय के विहंगम दृश्य का कर सकेंगे दीदार।

1420 views          

मंसूरी

उत्तराखंड पर्यटन संरचना विकास निवेश कार्यक्रम के एशियन डेवलपमेंट बैंक की ओर से वित्त पोषित योजना के तहत जॉर्ज एवरेस्ट हाउस के 23.69 करोड़ स्पये की लागत से जीर्णोद्धार का कार्य पूरा हो गया है। जिसका लोकार्पण उत्तराखण्ड र्प्यटन मंत्री सतपाल महाराज द्वारा किया गया। वही सर जार्ज एवरेस्ट हाउस के पुराने स्वरूप् को संरक्षक करते हुए जार्ज एवरेस्ट हाउस के साथ आसपास के क्षेत्र को विकसित किया है जो पर्यटकों के लिये आक्रषण का केन्द्र बन गया है।

मसूरी के हाथीपांव स्थित ऐतिहासिक जार्ज एवरेस्ट हाउस पर्यटकों को आकर्षित करने जा रहा है। उत्तराखंड पर्यटन संरचना विकास निवेश कार्यक्रम के तहत एशियन डेवलपमेंट बैंक की वित्तीय सहायता से खंडहर हो चुके सर जार्ज एवरेस्ट हाउस का 23.69 करोड़ की लागत से जीर्णाेद्धार किया है। मंगलवार को पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने जॉर्ज एवरेस्ट हाउस का लोकार्पण किया। सर जॉर्ज एवरेस्ट ने जीवन का एक लंबा अरसा मसूरी में गुजारा था ।वेल्स के इस सर्वेयर ने ही पहली बार एवरेस्ट की सही ऊंचाई बताई थी।इसलिए ब्रिटिश सर्वेक्षक एंड्रयू वॉ की सिफारिश पर 1865 में इस शिखर का नाम सर जार्ज एवरेस्ट के नाम पर रखा गया।मसूरी के हाथोपांव के समीप 172 एकड़ जमीन बने सर जॉर्ज एवरेस्ट हाउस और 50 मीटर दूरी पर स्थित ऑब्जवेंटरी का जीर्णाेद्धार का कार्य किया गया। 18 जनवरी 2019 को पर्यटन मंत्री ने इस कार्य का जॉर्ज एवरेस्ट पर बनाए प्रतीक्षालय यहां आने वाले पर्यटकों को बेहतर और आनंदमय अनुभव दे रहे हैं। साथ ही पर्यटकों को बेहतर सुविधा देने के लिए जगह-जगह सूचना पट लगाए गए हैं। जॉर्ज एवरेस्ट पर पर्यटकों के बढ़ते दबाव को देखते हुए बूम बैरियर के पास पार्किंग स्थल बनाने के साथ रिसेप्शन काउंटर भी बनाया गया है। जीर्णाेद्धार कार्य में जार्ज एवरेस्ट हाउस का मूल स्वरूप को बरकरार रखा गया। इसके जीर्णाेद्धार में चक्को में चूना, सुर्खी, मेथी और उड़द की दाल को पानी के साथ पीसकर सोमेंट जैसा लेप बना कर लाहौरी ईंटों का प्रयोग किया गया है।

सर जॉर्ज एवरेस्ट हाउस (आवासीय परिसर) और इस लगभग 50 मी0 दूरी पर स्थित प्रयोगशाला (ऑब्जर्वेटरी) जीर्णाेद्धार का कार्य लॉकडाउन के पश्चात् 18 जनवरी 2019 शुरू किया गया था। सतपाल महाराज ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि जार्ज एवरेस्ट हाउस और प्रयोगशाला के जीर्णाेद्धार के बाद लोकार्पण करने पर उनको काफी गौरवान्वित महसूस हो रहा है और अब यह मसूरी में पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनने जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्थानीय को रोजगार के साधन उपलब्ण्ध कराने के लिये पाच फूड वैन स्थापित की गई है। और आने वाले समय में धीरे-धीरे लोगों को रोजगार से जोड़ने का का काम किया जाएगा ।वहीं जार्ज एवरेस्ट से दिखने वाले हिमालय का विहंगम दृश्य काफी अद्भुत है और यह भी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बने। उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग लगातार पर्यटन और धार्मिक स्थलों को जोड़कर सर्किट बनाने का काम कर रहा है जिससे कि पर्यटकों को पर्यटक इसका लाभ उठा सकें जगह-जगह हांटेड हाउस बना रहे हैं जिससे कि वहां पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र बन सके।

About Author

           

You may have missed