भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा चालीस लाख रुपए से निर्मित पुल, पांच महीनों में हुआ जर्जर

411 views          

विकास कार्यों में भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी का बोलबाला इस कदर है कि लाखों रुपए की लागत से बना पुल महज पांच महीनों में ही जर्जर हालत में पहुँच गया। जी हाँ हम बात कर रहे है मंसूरी विधानसभा के कीमाड़ी रोड स्तिथ गल्जवाड़ी क्षेत्र का जहां 40 लाख रुपए की लागत से पंद्रह मीटर पुल का निर्माण पांच महीने पहले लोक निर्माण विभाग द्वारा कराया गया था जिसका उद्घाटन क्षेत्रीय विधायक गणेश जोशीं और काबीना मंत्री है द्वारा किया गया था।
क्षेत्र के पूर्व प्रधान राकेश शर्मा ने कहते हैं कि काफी प्रयासों के बाद इस पुल की स्वीकृति मिल पायी थी और ये पुल पांच ग्राम सभाओं को जोड़ता है और सैकड़ों लोगों का इस पुल से आना जाना लगा रहता है लेकिन आज चंद महीनों में इसकी हालत ये हो गयी है कि इसमें जगह-जगह सरिये निकल चुके है जिस कारण कोई भी  बड़ा हादसा घटित हो सकता है उन्होंने कहा कि इसमें पैसों की बंदरबांट हुई है इसमें घटिया स्तर की निर्माण सामग्री लगाई गई है साथ ही मुख्य ठेकेदार द्वारा इसे पेटी पर दूसरे ठेकेदार को दे दिया गया उन्होंने इस में जमकर धांधली का आरोप लगाया।

इसी क्षेत्र के बीजापुर डेम स्तिथ सालों पुराने लोहे के पुल में भी जगह-जगह दरारें आ गयी है स्थानीय लोगों द्वारा बताया गया कि इस पुल पर भारी वाहनों का आवागमन वर्जित है लेकिन इसके बावजूद भी यहां से बड़े-बड़े डंपर गुजरते हैं जिससे पुल की हालत और भी दयनीय हो गई है।

समाजसेवी मनीष गौनियाल ने बताया कि इस पुल में जमकर कमीशनखोरी हुई जिस कारण इसकी गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो गए है और यदि इस पुल में कोई हादसा होता है तो इसक जिम्मेदार कौन होगा गौनियाल का कहना है कि यदि लोक निर्माण विभाग द्वारा जल्द ही पुल की  मरम्मत नहीं करायी गयी तो वे धरना-प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे उन्होंने कहा कि टोंस नदी में बरसात के समय भारी मात्रा में पानी आता है जिससे सड़क से लगी दीवारें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं इससे पूर्व ही उन्होंने शासन प्रशासन को इसकी जानकारी दी थी लेकिन इस पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है साथ ही क्षेत्र में खनन की स्वीकृति भी दी गई थी जिस कारण इसकी गहराई और अधिक हो गई है और बरसात के दिनों में इसमें जान माल का खतरा भी बना रहता है उनके द्वारा जेसीबी मशीन लगाकर इसका रखरखाव किया जा रहा था लेकिन प्रशासन द्वारा काम रुकवा दिया गया जिससे कि क्षेत्र की जनता में भारी आक्रोश बना हुआ है

पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिशासी अभियंता डी सी नौटियाल का कहना था कि स्थानीय निवासियों द्वारा सम्बंधित पुल की शिकायत आयी है और विभाग द्वारा जल्द ही इसकी मरम्मत करायी जाएगी।

About Author

           

You may have missed