अब कांग्रेस ने उठायी किसानों को शहीद का दर्जा और परिजनों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग,राजधानी दून की सड़कों पर निकाला कैंडल मार्च।

557 views          

देहरादून,,,

केंद्र सरकार ने भले ही तीन कृषि कानून वापस ले लिए हैं लेकिन मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी किसान आंदोलन में जान गवाने वाले किसानों को शहीद का दर्जा और उनके परिजनों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग उठा रही है इसी कड़ी में आज कांग्रेस पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के नेतृत्व में कैंडल मार्च निकाला, हालांकि कैंडल मार्च में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी शामिल होना था लेकिन हरीश रावत कैंडल मार्च के समापन मौके पर पहुंचे। इससे पहले कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला करते हुए कहा कि केंद्र की सरकार ने जोर जबरदस्ती और बहुमत के आधार पर भारतीयता और भारत की आत्मा को रौंदा है। उन्होंने कहा कि किसानों की मर्जी के खिलाफ केंद्र सरकार 3 काले कानून लेकर आई मगर जब केंद्र को यह आभास हुआ कि राजनीतिक रूप से उनकी जमीन हिल रही है तो मजबूरी बस उन्होंने ये काले कानून वापस लिए। उसके बावजूद केंद्र सरकार ने इस आंदोलन में जान गवाने वाले किसानों के लिए अफसोस तक जाहिर नहीं किया। ऐसे में कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि केंद्र सरकार अफसोस जाहिर करें और इस आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों को शहीद का दर्जा दे। इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी ने आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के परिजनों को उचित मुआवजा दिए जाने की भी मांग उठाई है।

गणेश गोदियाल का कहना है कि इस आंदोलन में किसानों का बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है ऐसे में सरकार इस नुकसान की भरपाई करे और किसानों को विश्वास में लेकर एमएसपी की गारंटी भी दे।

About Author

           

You may have missed