मसूरी में पर्यटक और स्थानीय लोगों के बीच में गाड़ी हटाए जाने को लेकर हुआ जमकर विवाद

988 views          

 

मसूरी: मसूरी में पर्यटक और स्थानीय लोगों के बीच में गाड़ी हटाए जाने को लेकर जमकर विवाद हो गया। जिसमें पर्यटक और स्थानीय लोगों पर बीच जमकर मारपीट हुई। वही पुलिस के द्वारा एक तरफा कार्यवाही कर पर्यटकों का पक्ष लेने पर स्थानीय लोगो ने गांधी चौक पर जमकर हंगामा किया गया। जिस पर स्थानीय लोगों द्वारा मसूरी पुलिस से कार्रवाई की मांग की गई परंतु मसूरी पुलिस द्वारा स्थानीय लोगों को ही धमकाने का आरोप लगाया गया। स्थानीय लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 707 ए गांधी चौक पर जाम लगाकर धरना प्रदर्शन किया वहीं गांधी चौक पुलिस चौकी इंचार्ज शोएब अली के सस्पेंड किए जाने की मांग की गई। स्थानीय लोग मसूरी पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगा दिया जिससे के बाद सड़क के दोनों और वाहनों की लंबी कतार लग गई है जिससे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ।स्थानीय लोगों ने गांधी चौक पुलिस चौकी में जमकर तोड़फोड़ भी की। घटना की सूचना मिलते ही मसूरी कोतवाल शंकर सिंह बिश्ट पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुचे और बडी मृष्किलो के बाद भींड को षांत कर गांधी चौक पर लगे जाम को खुलवाया गया वह यातायात को सुचारू किया गया। पुलिस द्वारा दोनो पक्षो को लेकर कोतवाली ले जाया गया। मसूरी कोतवाली में भी स्थानीय लोगों द्वारा जमकर हंगामा किया गया। वह स्थानीय लोग गांधी चौक पुलिस चौकी इंचार्ज शोएब अली के सस्पेंड की मांग पर अड़े रहे। मसूरी कोतवाल शंकर सिंह बिष्ट ने कहा कि स्थानीय लोगों और हरियाणा के पर्यटकों के बीच गाड़ी को आगे करने और लगातार हॉर्न बजाने को लेकर विवाद और हाथापाई हो गई थी जिसमें दो स्थानीय निवासी विक्रम सजवाण पाटिल और राजेश सजवाण घायल हो गए थे। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों की तहरीर के आधार पर दो पर्यटकों को हिरासत में लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है वह झगडे में घायलों का मेडिकल कराया जा रहा है। उन्होने कहा कि पूरे मामले की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है वह गांधी चौक पुलिस चौकी इंचार्ज शोएब अली को लेकर निर्णय उच्च अधिकारियों के द्वारा लिया जाना है। जिसको लेकर उच्च अधिकारियों द्वारा पूरे मामले की जांच की जा रही है। वही शाम तक पुलिस द्वारा दोनो पक्षो पर किसी प्रकार की कार्यवाही नही की गई थी वह स्थानीय लोगों द्वारा कोतवाली में डटे रहे। पर्यटकों ने बताया कि उनकी कार गांधी चौक पर खडी थी व उनके पिछे कार वाला हॉर्न बजाकर उनसे कार हटाने के लिए कह रहा था जिसको लेकर उनका और पिछे खडी कार वाले से विवाद हो गया। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों ने उनके और उनके बच्चों के साथ मारपीट की और उनके साथ अभद्रता की । उन्होंने कहा वह मसूरी अपने बच्चों के साथ घूमने के आये थे।

About Author

           

You may have missed