कांग्रेस ने मलिन बस्तियों के मालिकाना हक के लिए बजाया बिगुल, मलिन बस्ती अधिकार सम्मान यात्रा की शुरुआत की,

547 views          

 

देहरादून

कांग्रेस ने मलिन बस्तियों के मालिकाना हक के लिए बजाया बिगुल मलिन बस्ती अधिकार सम्मान यात्रा की शुरुआत आज 30 नवंबर 2021 को कांवली रोड पेट्रोल पंप से हुई । यात्रा का नेत्रत्व पूर्व मुख्यमंत्री श्री हरीश रावत जी, नेता प्रतिपक्ष  प्रीतम सिंह, उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  गणेश गोदियाल के द्वारा किया गया । सम्मान यात्रा का प्रथम चरण कांवली रोड से शिव कॉलोनी, छबील बाग बस्ती, भाट सिख मोहल्ला, खुड़बुड़ा होते हुए भाट सिख मोहल्ला गुरुद्वारा साहिब पर संपूर्ण हुआ।

इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने संबोधन में कहा की हमने अपनी सरकार रहते वर्ष 2016 में मलिन बस्तियों को मालिकाना हक देने का निर्णय विधान सभा से पारित कर मलिकाना हक के सैकडो प्रमाण पत्र देने की शुरुआत कर दी थी । वर्ष 2017 में सरकार आने के बाद हमारे इस निर्णय कार्यक्रम को निरस्त कर हाई कोर्ट में पीआईएल कराकर मालिन बस्तीयों को अतिक्रमण को श्रेणि में दिखाते हुए झूठा हलफनामा देकर इन मलिन बस्तियों को वर्ष 2000 या उसके बाद बसा हुआ बताया | भा.ज.पा. द्वारा प्रस्तुत ये तथ्य नितांत असत्य एवं त्रुटिपूर्ण है ।
अधिकांश बस्तियों 1977 से कांग्रेस की प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के आवाहन पर कांग्रेस के साथियों ने, जिसमे संजय शर्मा प्रमुख थे, बसाई थी। कांग्रेस ने जिन बस्तियों को बसाने का काम किया था उनको उजड़ने नहीं देगी और सत्ता में आने पर पुराने निर्णय को पुनर्जीवित कर मलिन बस्तियों को मालिकाना अधिकार देने का काम करेगी। उन्होंने कहा की मलिन बस्तीवासी कांग्रेस की शक्ति और रीढ़ हैं। हम मलिन बस्तीवासियों के लिए मालिकाना अधिकार देने के साथ विकास के सारे रुके हुए काम मलिन बस्ती में फिर से शुरू करेंगे। इंदिरा जी के किए हुए वादे और स्वप्न को कांग्रेस हर हालत में पूर्ण करेगी।

इस अवसर पर बोलते हुए नेता प्रतिपक्ष  प्रीतम सिंह ने कहा कि हमने विधान सभा में प्रस्ताव पास कर मलिन बस्तियों को नियमत करने का निर्णय अपनी तत्कालिन सरकार में हरीश रावत जी के नेत्रत्व में लिया था। कांग्रेस की सरकार बनने पर मलिन बस्तियों के लिए हर संभव मदद, सहयोग और कार्य करेंगे। मालिकाना हक देना कांग्रेस की सोच है और मलिन बस्तीवासियों का संवैधानिक अधिकार है। हम हमेशा मलिन बस्ती में रहने वाले परीश्रमी पूरे उत्तराखंड में मलिन बस्तियों को संरक्षण देने, बचाने और मालिकाना हक दिलाने के लिए कांग्रेस का एक-एक साथी भा.ज.पा. की मलिन बस्ती हटाओ नीति के खिलाफ सड़कों पर संघर्ष करेगा। अगर एक भी घर को उजाड़ने का प्रयत्न भा.ज.पा. सरकार ने किया, तो कांग्रेस दमदार तरीके से विधान सभा और सड़कों पर संघर्ष का बिगुल बजायगी।

इस अवसर पर मलिन बस्ती अधिकार सम्मान यात्रा के संयोजक  संजय शर्मा ने कहा कि हम लोगो ने 1977 के समय छात्र राजनीति और युवा कांग्रेस में रहते हुए इंदिरा जी के आवाहन पर रिस्पना नदी और बिंदाल नदी व अन्य क्षेत्रों में मलिन बस्तियों को बसाया था। आज कांग्रेस ही उस समय बसाई गई बस्तियों को मालिकाना हक देने का इंदिरा जी का स्वप्न पुरा करेगी। बस्तियों को बचाने एवम मालिकाना हक दिलवाने हेतु कांग्रेस का सत्ता में आना अत्यंत आवश्यक है।

इस अवसर पर पूर्व विधायक  राजकुमार ने कहा की जो सशक्त संघर्ष हमने बस्तियों को बसाने के लिए किया था, वही सशक्त संघर्ष हम बस्तियों को मालिकाना हक दिलाने के लिए भी करेंगे।

इस अवसर पर महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लालचंद शर्मा, उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्रीगण श्री जगदीश धीमान, राजेश शर्मा, शोभा राम व श्री राजेंद्र शाह, प्रदेश प्रवक्ता डॉ प्रतिमा सिंह, दीप बोहरा, अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा, पार्षदगण नीनू सहगल, संगीता गुप्ता, कोमल बोरा, देविका रानी, मुकेश सोनकर, अर्जुन सोनकर, निखिल कुमार, रमेश मंगू,प्रदेश सचिव सोम प्रकाश बाल्मीकि, ऋषिपाल, नागेश रतूड़ी, कुलदीप कोहली, जहांगीर खान, नीरज नेगी, दीपा चौहान, रीता रानी, नीलम, अवधेश पन्त, राहुल शर्मा, पूर्व पार्षद बलवान सिंह, एडवोकेट विपुल नौटियाल, कांग्रेस नेतागण दिनेश नैथानी, देवेंद्र सिंह, गुलशन सिंह, हरजीत सिंह, मलकीत सिंह, संजय बिंदल, हाजी सलीम, महेश पाल, जावेद, सोबरन सिंह, गुरविंदर सिंह, रोहित चौधरी, अमित जैन, दीपक धीमान,चंद्र मोहन काला, इमरान, अभिनव थापर, उषा रानी, आशा टम्टी, शाहिद रज़ा, संजय कद्दू, संग्राम सिंह पुंधीर, गुलशन कुमार, सुच्चा सिंह, प्रतिमा सिंह, लेखराज अग्रवाल, अर्जुन सिंह, राजन सोनकर, ओमि यादव, अशोक शर्मा, अनिल थापा, विजय सोनकर, मनोज सोनकर , गुलजार, सुनील बंगा, योगेश भटनागर, विकास नगी, नमन, शैलेन्द्र, मोहित मेहता, नितिन चंचल, संगीता सोनी , अमि चंद सोनकर, विशाल सिंह,संजय टांक, दीप बोहरा, अनिल धीमान, मदन लाल धीमान, गुरुदीप रावत , राजा, सहित कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

About Author

           

You may have missed