भाजपा से प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह का दून की सड़कों पर रोड शो, मुख्यमंत्री धामी रहे मौजूद, सैकड़ो कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों के साथ झूम कर भाजपा प्रत्याशी को दिया समर्थन

67 views          

देहरादून

भाजपा से प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह ने मंगलवार को अपना नामांकन भरा । नामांकन से पहले महानगर भाजपा कार्यालय से लेकर जिला अधिकारी कार्यालय तक रोड शो किया गया जिसमें मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कैबिनेट, मंत्री गणेश जोशी, राज्यसभा सांसद नरेश बंसल समेत टिहरी लोकसभा के अंतर्गत विधानसभा से विधायक मौजूद रहे। नामांकन के दौरान सैकड़ो कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों के साथ झूम कर भाजपा प्रत्याशी को समर्थन दिया । नामांकन के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने माला राज्य लक्ष्मी शाह का स्वागत फूल मालाओं से किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं और प्रदेश की जनता में भारतीय जनता पार्टी को लेकर जोश – उत्साह है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम प्रचंड जीत हासिल करेंगे। वही भाजपा प्रत्याशी के साथ पहुंचे कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कांग्रेस के प्रत्याशी जोत सिंह गुनसोला पर तंज कसते हुए कहा की कांग्रेस प्रत्याशी को इस उमर में आराम करना चाहिए ना कि चुनाव में भाग दौड़ । भारतीय जनता पार्टी टिहरी लोकसभा सीट दोगुना अंतर से जीतने वाली है ।

पांचों लोकसभा में भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों में सीधा मुकाबला

कांग्रेस और भाजपा ने उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार दिए। सभी प्रत्याशो ने अपना प्रचार – प्रसार तेज कर दिया है । वही कई प्रत्याशियों ने अपना नामांकन दाखिल कर दिया है । उत्तराखंड की पांचों लोक सभा सीट पर आमने-सामने का मुकाबला भाजपा और कांग्रेस का रहने वाला है। क्या भाजपा पांचों एक बार फिर अर्जित कर पाएगी या कांग्रेस अपना झंडा गाड़ पाएगी ।

पौड़ी और टिहरी लोक सभा सीट से कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशियों ने नामांकन भर दिया है । वही अल्मोड़ा और हरिद्वार से के भाजपा प्रत्याशियों ने भी नामांकन भर दिया है । 27 मार्च को नामांकन का आखिरी दिन होने के कारण कांग्रेस और भाजपा समेत निर्दलीय के बचे हुए प्रत्याशी बुधवार को नामांकन भरेंगे। पांचो ही सीटों पर भाजपा के दावेदार मजबूत है वहीं कांग्रेस उन पांचो दावेदारों को कड़ी टक्कर देने का विश्वास जाता रही है । आपको बता दे इस बार भाजपा ने टिहरी अल्मोड़ा और उधम सिंह नगर सीट से अपने सांसदों को एक बार फिर मौका दिया है वही पौड़ी गढ़वाल और हरिद्वार सीट से नए प्रत्याशियों पर अपना दाव खेला है। टिहरी लोक सभा सीट की बात की जाए तो यहां से एक लोकसभा उपचुनाव और दो लोकसभा चुनाव के बाद एक बार फिर संसद के लिए माला राज्यालक्ष्मी शाह पर भरोसा पार्टी ने जताया हैं वही उनका मुकाबला कांग्रेस के जोत सिंह गुनसोला से होगा जो कांग्रेस से दो बार के विधायक रह चुके हैं और कई महत्वपूर्ण समय पर उन्होंने कांग्रेस को जीत हासिल कर आई है। वही पौड़ी गढ़वाल सीट से पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल पर कांग्रेस ने दाव खेला है । वहीं भाजपा से केंद्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी प्रत्याशी पर मोहर लगी है। जहां एक तरफ अनिल बरौनी केंद्र में भाजपा की मजबूत कड़ी है । वही गणेश गोदयाल भी जमीन से जुड़े हुए व्यक्ति है। जिन्होंने कांग्रेस के विश्वास को हमेशा कायम रखा है। हरिद्वार लोक सभा सीट की बात की जाए तो यहां पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बेटे वीरेंद्र रावत एक युवा चेहरे के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं वहीं उनके सामने भाजपा के प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मुकाबल लड़ेगे। कुमाऊं क्षेत्र के दो सीटों की बात करें तो उधम सिंह नगर से भाजपा के प्रत्याशी और मौजूदा सांसद समेत केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट को कमान सौंपी है। इधर कांग्रेस ने अपना दाव पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी पर खेला है। वही अल्मोड़ा सीट की बात की जाए तो भाजपा से अजय टम्टा और कांग्रेस से प्रदीप टम्टा चुनाव लड़ेंगे। आपको बता दे अजय टम्टा ने तीन बार के आमने-सामने मुकाबले में प्रदीप टम्टा को 2 बार हार का सामना करना पड़ा वहीं एक बार जीत का स्वाद भी चखना पड़ा।

वही पांचो ही प्रत्याशियों से दोनों पार्टी खुश नजर आ रही है। दोनों ही पार्टी पांचो सीटों पर प्रचंड जीत का दावा कर रही है । भाजपा और कांग्रेस के नेता अपनी पार्टी की विचारधारा को जनता के बीच रखते हुए मजबूती से चुनाव लड़ने की बात कह रही है । जहां भाजपा दोगुना अंतर से जीत हासिल करने का दावा कर रही है वही कांग्रेस को मुंह तोड़ जवाब देने की बात कर रहा है ।

2014 से भाजपा उत्तराखंड की पांचो लोकसभा सीटों में कमल खिला रही है । वही कांग्रेस एक दशक से इस रिकार्ड को तोड़ने की कोशिश में लगी है। भाजपा ने अपनी जीत के आश्वासन के साथ हर लोकसभा सीट में 5 लाख से अधिक वोट पाने का लक्ष्य रखा है। वही कांग्रेस इस रिकार्ड को तोड़ने का काम करेगी ।

About Author

           

You may have missed